Is India Becoming a Digital Colony? Conversation with Mohandas Pai.

Last updated on Jun 25, 2018

Posted on Jun 25, 2018

This episode is available with Hindi subtitles!

Unlike China which has its own internet platforms and controls its domestic data, India is a major user of US internet services. Indian citizens’ and government data are vulnerable because they are hosted in USA. GOI does not understand the terrible consequences of such dependency on the economy and national security.

To donate to Infinity Foundation’s projects including the continuation of such episodes and the research we do:
इनफिनिटी फ़ौंडेशन की परियोजनाओं को अनुदान देने के लिए व इस प्रकार के एपिसोड और हमारे द्वारा किये जाने वाले शोध को जारी रखने के लिए: http://infinityfoundation.com/donate-2/

Join Rajiv’s discussion: https://rajivmalhotra.com/get-involved/join-rajivs-egroup/

To Subscribe to Rajiv Malhotra Official:
राजीव मल्होत्रा ऑफिसियल की सदस्यता लेने के लिए: https://www.youtube.com/channel/UCk85J3pqkn1y–k2wNMbthA?sub_confirmation=1

क्या भारत एक डिजिटल उपनिवेश बन रहा है ? मोहनदास पाई के साथ बातचीत |

चीन से भिन्न, जिसके पास अपने इंटरनेट मंच (प्लेटफॉर्म) हैं और जो घरेलु आंकड़ों को नियंत्रित रखता है, भारत अमेरिकी इंटरनेट सेवाओं का प्रमुख उपयोगकर्ता है | भारतीय नागरिकों और सरकार के आंकड़े सुभेद्य हैं क्योंकि वे अमेरिका में अवस्थित (होस्टेड) हैं | इस प्रकार की निर्भरता का अर्थव्यवस्था और राष्ट्रीय सुरक्षा पर होने वाले भयंकर दुष्परिणामों को भारत सरकार नहीं समझती है |

source

Share on

Tags

Subscribe to see what we're thinking

Subscribe to get access to premium content or contact us if you have any questions.

Subscribe Now